गोवा में बोटिंग और कायाकिंग का मज़ा कैसे लें [किराया + टिप्स]

गोवा गए और बोटिंग / कायाकिंग नहीं किया तो फिर आपकी यात्रा बिलकुल अधूरी ही मानी जाएगी |

जी हाँ, अगर आप गोवा जा रहें हैं और बोटिंग या कायाकिंग के लिए बेहतरीन ऑपरेटर खोज रहे हैं तो फिर चिंता की कोई बात नहीं | 

आप यहाँ बिलकुल सही स्थान पर आये हैं क्योंकि मेरे इस यात्रावृत्तांत में आपको इससे सम्बंधित पूरी जानकारी मिल जाएगी |

यह तो सच है कि गोआ का मतलब है बीच पार्टी और नाइटलाइफ़ ….जैसा सब सोचते हैं |

पर इन कॉमर्शियल या यूँ कहें कि भीड़ भाड़ वाले स्थानों से परे यदि हम किसी शांत स्थान की बात करें जो प्रकृति के बिलकुल ही करीब हो तब कैसा रहेगा |

दूर-दूर तक फैले हुए हरे-हरे मैंग्रोवों के बीच मंद गति से अपने खुद के बोट में समुद्री बैकवाटर्स पर अकेले दूर तक निकल जाना अपने में एक अनोखा एहसास होगा |

गोवा की चहल-पहल से कुछ ही घंटो को निकाल कर यहाँ आना हमारे लिए एक अनोखा और कभी न भूलने वाला अनुभव साबित होने वाला था |

गोआ में एक लक्ज़री यॉट पर तैरते और प्रकृति से दो-चार करते हुए हमने कई गतिविधियों जैसे डाइविंग, कायाकिंग और सेलिंग को अंजाम दिया |

इसके अलावा तरह तरह के पक्षियों और जीव जंतुओं को देखना एक बोनस जैसा ही था |

बागा, कलंगुट जैसे अन्य व्यस्त स्थानों के विपरीत यह स्थान बिलकुल ही उलट था और जहाँ तक निगाह जाती वहां हम और बस हम ही थे |

इन सब के पीछे जो टीम एक बेहतरीन कार्य कर रही थी उसका नाम था Konkan Explorers जिन्हे हाल ही में ‘Indian Responsible Tourism Awards’ से भी नवाज़ा गया था |

अगर आप भी वाटर स्पोर्ट्स जैसे डाइविंग, बोटिंग कायाकिंग और सेलिंग में रुचि रखते हैं तब इस स्थान पर आना आपके लिए महत्वपूर्ण होगा |

आइये चलते हैं कोंकण एक्सप्लोरर्स के साथ एक अनोखे और कभी न भूलने वाले सफर पर |

विषय-सूची छिपाएं

 

गोवा में बोटिंग और कायाकिंग [एक यात्रावृतांत]

गोवा! यह शब्द सुनते ही सबसे पहले आपके मन में क्या आता है ?

बीच पार्टी, वाटर स्पोर्ट्स, नाइटलाइफ़ और काजू फ़ेनी |

आप सही हैं क्योंकि सभी ऐसा ही सोचते हैं और मैं भी किसी से अलग थोड़े ही हूँ सो मैं भी वहां जाने से पहले ऐसा ही सोचता था |

मुझे इस बात का विश्वास नहीं था कि गोवा में फॅमिली वेकेशन के लिए भी कुछ बहुत ही बेहतरीन हो सकता है|

गोआ जाने से पहले एक द्वन्द (उत्तरी या दक्षिणी गोवा) से उबरकर मैंने अपने 7 दिनों की होटल बुकिंग साउथ गोवा में ही कर दी थी |

इन एक्शन पैक्ड दिनों में कुछ घंटे ऐसे भी आये जो याद रह गए और बाकी तो कहीं पीछे छूटते गए क्योंकि उनमें कुछ ख़ास नहीं था |

कोंकण एक्सप्लोरर्स के साथ बोटिंग और कायाकिंग उन्हीं में से एक था |

 

[crp]

 

गोवा में Konkan Explorers से पहली मुलाकात

गोवा में बोटिंग

29 दिसंबर 2018 से करीब 3 महीने पहले मैं हमेशा की तरह अपनी यात्रा की प्लानिंग में व्यस्त था |

गोवा में दिसंबर का महीना मतलब हर जगह भीड़- भाड़ और इसलिए मैं कुछ समय इस सबसे हट कर बिताना चाह रहा था, कुछ ऑफबीट सा |

तभी ट्रिप एडवाइजर में मुझे कोंकण एक्सप्लोरर्स के बारे में पता चला जिनकी रेटिंग बहुत ही अच्छी थी और सबसे ख़ास बात कि इनके वेबसाइट के हिसाब से ये लोग ‘एको और रेस्पोंसिबल टूरिज्म’ को बढ़ावा देते थे |

यह सब देखकर मैंने कुछ घंटे नार्थ गोवा के मोरजिम क्षेत्र में डाइविंग, बोटिंग और समुद्री वनस्पतियों, मैंग्रोवों और जीव जंतुओं के साथ बिताने का फैसला किया |

बस फिर क्या था मैंने इनको अपना प्लान भेजा और यह देख कर आश्चर्य हुआ कि अगले 15 मिनट में ही उनका जवाब आ गया और वो भी पूरी जानकारी के साथ |

वो कहते हैं कि ‘first impression is the last impression’ और यहीं से व्हाट्सएप’ पर हमारी पहली मुलाकात हुई |

चूँकि हममें से किसी को कायाकिंग तो छोड़िये, तैरना भी नहीं आता था और हम थोड़ा डरे हुए थे पर इन्होने हमें सुरक्षा का पूरा भरोसा दिलाया |

इन्होने यह भी बताया की टूर को हम आप के हिसाब से कस्टमाइज भी कर सकते हैं |

पूर्णतया संतुष्ट होने के बाद हमने 15000 रु की अग्रिम राशि देकर चार घंटों का ‘डिस्कवर फार्मूला‘ बुक कर लिया |

ये लोग पूरी तरह से कस्टमर को तबज्जो देने में यकीन रखते हैं |

जब तक आप संतुष्ट न हो जाएँ तब तक बड़ी ही शिष्टता के साथ आपको बात/चैट/ई-मेल/व्हाट्सएप के माध्यम से सभी प्रकार की जानकारी प्रदान करने के लिए तत्पर रहते हैं |

यही बात इनको अन्य टूर ऑपरेटर्स से अलग करती हैं |

 

जानिये कोंकण एक्सप्लोरर्स कौन हैं?

बोटिंग

यह अपने ही प्रकार का एक अनोखा कांसेप्ट है जो गोवा के मोर्जिम में स्थित है |

इनका पूरा तंत्र एक मशीन के सामान है जिसके मुख्य कलपुर्जे हैं –

पास्कल 

अत्यंत अनुभवी नाविक और यॉट के कप्तान |

पर्यावरण, वनस्पति विज्ञान, मौसम, चिड़िया और समुद्री जीव जंतुओं के जानकार |

वैसे तो यह हैं फ़्रांसिसी पर हिंदी बहुत अच्छी आती है | मैंग्रोव के बारे में उनकी जानकारी प्रश्नसनीय है|

पूनम 

अत्यधिक प्रोफेशनल, विनम्र और एक उम्दा मेज़बान |

हमारे सुपुत्र तो इनसे ऐसे घुल मिल गए जैसे इन्हें वर्षों से जानते हों |

पूनम और पास्कल ने मिलकर इस एको-टूरिज्म आईडिया को मूर्त रूप दिया है |

प्रबंधन (मैनेजमेंट) में कुशल और फ़ोटोग्राफ़ी की अच्छी जानकार |

 

सुमन 

धीर, गंभीर और सुरक्षा सन्साधनों का जानकार |

एक प्रकृतिप्रेमी और चिड़ियों के बारे में उम्दा जानकारी रखता हैं |

सबसे पहले हम इसी से मिले और इसके मित्रता पूर्ण व्यहार ने हमारा मन मोह लिया |

 

कामरान और विराज 

दो मजबूत आधार स्तम्भ |

उनके कार्य उनके शब्दों से बहुत अधिक बोलते हैं |

बहुत ही अच्छे तैराक और इन्ही के कारण हम यहाँ सुरक्षित महसूस कर रहे थे |

इनके अलावा वो क्रू मेंबर्स जो जेटी पर थे वह भी अपना काम बखूबी जानते थे और सभी मिलकर एक मशीन के सामान कार्य करते थे |

एक बात जो सबसे अच्छी लगी वह थी कि टीम सुरक्षा को लेकर बेहद सतर्क है।

क्रूज़ बोट में पर्याप्त सुरक्षा विशेषताएं और संसाधन हैं, जिसमें गहराई मापने के लिए सोनार भी शामिल हैं।

हांलाकि यह सभी क्रू मेम्बर 2018 के समय थे और हो सकता है जब आप यहाँ जाएँ तब इनमे कुछ नए चहरे भी आपको दिख जाएँ |

 

रेस्पोंसिबल टूरिज्म क्या हैं | इसमें कोंकण एक्सप्लोरर्स कैसे भागीदार हैं 

2018 में ही इन्हें ‘इंडियन रेस्पोंसिबल टूरिज्म अवार्ड ‘से नवाज़ा गया और इसके लिए ये लोग बहुत योग्य हैं |

रेस्पोंसिबल टूरिज्म एको-टूरिज्म से तनिक भिन्न होता है |

जहाँ पर एको-टूरिज्म सिर्फ पर्यावरण और वन्यजीवन पर ध्यान देता है वहीँ पर रेस्पोंसिबल टूरिज्म पर्यावरण और वन्यजीवों के अलावा अपनी जिम्मेदारी और स्थिरता पर भी फोकस करता है |

things to do in goa

रेस्पोंसिबल टूरिज्म में मुख्यतः शामिल हैं कि –

  • पर्यावरण के अलावा लोकल या स्थानीय लोगों पर हमारी यात्रा का क्या सांस्कृतिक प्रभाव पड़ रहा है
  • पैसे किस प्रकार स्थानीय समुदायों में वितरित किये जा रहे हैं |

यह एक तरह का सामजिक योगदान है |

कोंकण एक्सप्लोरर्स स्थानीय वस्तुओं और कर्मचारियों को समर्थन देता हैं |

यहाँ के वातावरण, जीव जंतुओं और मैंग्रोवों के संरक्षण के अलावा इनके बारे में जागरूकता फैलाना ही इनका उद्देश्य है |

इनका यॉट ‘रेड मैंग्रोव’ पूरी तरह से सौर ऊर्जा (सोलर पावर) से लैस है और भीतर एक मरीन टॉयलेट की भी व्यस्था है |

 

गोवा में बोटिंग और कायाकिंग के लिए कौन सा पैकेज चुनें [किराया]?

top things to do in goa

Konkan Explorers के पास दो अल्ट्रा मॉडर्न यॉट, 7 कायाक और 1 कटमरैन नाव है जो बुकिंग के हिसाब से उपयोग में लाये जाते हैं |

इनके पास चार प्रकार के पैकेज हैं जिसमे हमारे पास यह विकल्प है कि हम प्रत्येक व्यक्ति के हिसाब से या ग्रुप में पूरी बोट भी बुक कर सकते हैं |

पैकेज के हिसाब से बोटिंग और सेलिंग का समय एक से चार घंटे तक होता है और यदि हम प्रति व्यक्ति के हिसाब से बुक करेंगे तब यह एक शेयर्ड या साझा टूर होगा |

एक/दो, तीन और चार घंटों के लिए ग्रुप बुकिंग या पूरी यॉट बुक करने के लिए आप सीधा कोंकण एक्सप्लोरर्स से संपर्क कर सकते हैं |

दिन भर में इनके दो टूर होते हैं एक सुबह और एक दोपहर में |

आइये जानते हैं इनके नए टूर पैकेज के बारे में |

 

सवा घंटे की बोटिंग [क्रूज फार्मूला]

1 से 6 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)1,500 रु 
7 से 12 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)1,200 रु
बोटिंग शुरू करने के लिए न्यूनतम 4 यात्री होने चाहिए 

इस पैकेज में 75 मिनट तक के लिए छपोरा नदी में यॉट पर सेलिंग कर सकते है |

तैरते हुए आप मैंग्रोव और चिड़ियों को देख सकते हैं |

हल्का फुल्का नाश्ता और पेय इसी में सम्मिलित हैं |

इसमें कोई भी वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटी सम्मिलित नहीं है |

 

दो घंटे की बोटिंग [डिस्कवर फार्मूला]

1 से 6 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)2,500 रु 
7 से 12 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)2000 रु
बोटिंग शुरू करने के लिए न्यूनतम 4 यात्री होने चाहिए 

इस पैकेज में दो घंटो के लिए छपोरा नदी में यॉट पर सेलिंग कर सकते है |

तैरते हुए आप मैंग्रोव और चिड़ियों को देख सकते हैं |

हल्का फुल्का नाश्ता और पेय इसी में सम्मिलित हैं |

इसमें स्विमिंग के अलावा और कोई भी वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटी सम्मिलित नहीं है |

सीमित मात्रा में आप अपने साथ खाने-पीने की चीजें ला सकते हैं पर इसके लिए आपको बुकिंग करते समय इन्हें  सूचित करना होगा|

 

तीन घंटे की बोटिंग और कायाकिंग [एडवेंचर फार्मूला]

1 से 6 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)3,500 रु 
7 से 12 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)3000 रु
बोटिंग शुरू करने के लिए न्यूनतम 4 यात्री होने चाहिए 

एडवेंचर फार्मूला में आप तीन घंटो के लिए छपोरा नदी में यॉट पर बोटिंग कर सकते है |

इस पैकेज में सेलिंग के अलावा कयाकिंग और मैन्ग्रोव की यात्रा भी सम्मिलित है |

यदि आप थोड़ा समय निकाल सकते हैं तब आपके लिए यह पैकेज बिलकुल सही होगा |

सीमित मात्रा में आप अपने साथ खाने-पीने की चीजें ला सकते हैं पर इसके लिए आपको बुकिंग करते समय इन्हें  सूचित करना होगा|

 

चार घंटे की बोटिंग और कायाकिंग [एक्सप्लोरर्स फार्मूला]

1 से 6 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)4,500 रु 
7 से 12 यात्रियों के लिए किराया (प्रति व्यक्ति)4000 रु
बोटिंग शुरू करने के लिए न्यूनतम 4 यात्री होने चाहिए 

हमने इसी पैकेज को चुना था जिसमें आप चार घंटो के लिए छपोरा नदी में या फिर समुद्र में यॉट पर बोटिंग कर सकते है |

मेरे हिसाब से कभी न भूलने वाले अनुभव के लिए यह पैकेज बहुत ही सटीक है |

सीमित मात्रा में आप अपने साथ खाने-पीने की चीजें ला सकते हैं पर इसके लिए आपको बुकिंग करते समय इन्हें  सूचित करना होगा|

यदि आप के पास समय है और आप समुद्री गतिविधियों जैसे तैराकी, कयाकिंग, सेलिंग, छोटे द्वीपों की खोज, चिड़ियों को देखना और मैंग्रोवों की यात्रा करना चाह रहे हैं तब इसी को चुनना बेहतर है |

 

[crp]

 

गोवा मे बोटिंग और कायाकिंग का कभी न भूलने वाला दिन…. 

गोवा में बोटिंग

मैंने 29 दिसंबर 2018 के लिए इनका बोटिंग टूर बुक किया था |

एक दिन पहले ही इन्होने अपनी कार्यकुशलता का परिचय देते हुए मुझे अपना लोकेशन (गूगल मैप्स) और कुछ जरूरी जानकारियां भेज दीं |

हमारा बोर्डिंग समय सुबह के 09:30 पर तय हुआ था |

चूँकि हम साउथ गोवा (कणकोंण) में रुके थे और मोरजिम यहाँ से लगभग 90 कि. मी. दूर था इसलिए हम लोग सुबह के साढ़े छह बजे ही होटल से निकल लिए |

रास्ते में पूनम का फ़ोन आता रहा कि हम लोग कहाँ तक पहुंचे और मैंने बताया कि हम लगभग सवा नौ तक जेटी पर पहुंच जायेंगे |

कोंकण एक्सप्लोरर्स समय के बड़े पाबन्द निकले |

मैंने देखा कि कुछ ही दूरी पर छपोरा नदी के ऊपर एक फ्लोटिंग बे के पास ही हमारा यॉट रेड मैन्ग्रोव खड़ा था |

खिली हुई धूप और चमकते हुए पानी के कारण यॉट और भी चमकीली दिखाई दे रही थी |

मुझे लगा कि यह जेटी बहुत अधिक कमर्शियल नहीं हुई है जो बहुत ही अच्छी बात थी क्योंकि अत्यधिक भीड़ भाड़ से हम अब परेशान हो चुके था |

ठीक साढ़े नौ बजे सुमन के साथ हम लोग एक छोटी सी नाव में फ्लोटिंग बे की ओर बढ़ चले |

यहाँ हमारी मुलाकात पास्कल, पूनम, कामरान, विराज और बाकी क्रू से हुई |

अपने चपल्लों को वही बे पर छोड़ हम सब रेड मैन्ग्रोव पर सवार हो लिए और प्रकृति की खोज में निकल पड़े |

बोटिंग

यह यॉट बहुत ही भव्य था और सुरक्षा संसाधनों के अलावा इसमें सभी सुख सुविधाएँ मौजूद थीं |

वह चाहे भीतर का माहौल हो, म्यूजिक सिस्टम, लकड़ी के फ्लोरिंग टाइल्स, मरीन टॉयलेट, कपडे बदलने के लिए टेंट, रेफ्रीजिरेटर और भी बहुत कुछ सभी कुछ इस छोटे से स्थान में भरे पड़े थे |

इसमें एक बार में आराम से आठ से दस लोग आ सकते थे |

गोवा में बोटिंग

बोटिंग के लिए या तो हम लोग समुद्र के मुहाने पर जा सकते थे या फिर छपोरा बैकवाटर पर ही दूर तक निकल सकते थे |

मौसम के मिजाज को भांपकर हमारे कैप्टन कूल मिस्टर पास्कल ने बताया कि आज हम लोग समुद्र के मुहाने पर न जा कर मैंग्रोवों से होते हुए दूर किसी द्वीप की खोज पर चलेंगे |

 

पहले दो घंटे : बोटिंग और प्रकृति दर्शन 

यह शब्दों में बयां करना बहुत ही मुश्किल है और इसके लिए आपको खुद ही यहाँ आना होगा |

चलते चलते पास्कल ने सेलिंग की तकनीक और आस पास के वातावरण और पक्षियों के बारे में बताना शुरू किया जो बहुत ही उपयोगी था |

पूनम ने अपने और इस प्रोजेक्ट के बारे में बताया और घर का बनाया हुआ नाश्ता पेश किया जो बहुत ही स्वादिष्ट था |

बोटिंग गोवा

मेरा सात साल का बेटा तो उससे पूरी तरह घुल मिल गया था और दूरबीन लेकर पक्षियों के बारे में बड़ी रुचि से देखता सुनता जा रहा था |

चारों तरफ नीरवता व्याप्त थी और इसको तोड़ते हुए बीच बीच में कुछ हाउसबोट दिख जाते थे जिनको देखते ही हम हाथ हिला देते थे |

गोवा में हाउसबोट

काफी दूर चलने के बाद पानी की गहराई को घटते हुए हम सोनार पर देख सकते थे, अब एक छोटा सा द्वीप दिख रहा था जिसके अगल बगल घने मैंग्रोवों की श्रंखला थी |

एक अजनबी परन्तु बहुत ही सुन्दर पर्यावरणीय संरचना जिसके घने पत्तों के बीच पतले से रास्ते पर चलते जाना बहुत ही एडवेंचर भरा था |

मैंग्रोवों की मृत चुप्पी वास्तव में संगीतमय सी लग रही थी |

 

अगला एक घंटा : स्विमिंग 

गोवा में डाइविंग

करीब दो घंटे की बोटिंग के बाद हम एक स्थान पर रुके जहाँ पानी की गहराई भी तनिक कम थी |

अब बारी थी पानी में कूदने और तैरने की |

यहाँ पर हम में से कोई भी तैरना नहीं जानता था पर इसके लिए मैं पूरी टीम को धन्यवाद् देना चाहूंगा कि कुछ इस तरह इस पूरे कार्य को अंजाम दिया जिससे हमें तनिक भी डर नहीं लगा |

सबसे पहले तो उन्होंने हमें लाइफ जैकेट्स दिए और जिसे फिर भी डर लग रहा था उसे लाइफ रिंग्स भी दी गयीं |

पानी में दो तरफ से रस्सियों का एक घेरा सा बनाया गया जिसके बीच हम लोग सुरक्षा से तैर सकते थे |

गोवा में तैराकी

पानी का तापमान बहुत ही उचित था और इस कुनकुनी धूप में सबने इसका भरपूर आनंद लिया |

पूरे समय पास्कल, सुमन, विराज और कामरान हमारे आस पास ही रहे जिससे हम अपने को और भी सुरक्षित महसूस कर सकें |

गोवा बोटिंग और तैराकी

 

अंतिम एक घंटा : कायाकिंग 

आधे घंटे के बाद ही पास्कल ने यॉट के पीछे बंधे कायाक को खोल दिया और अब बारी थी कायाकिंग की |

पहले पंद्रह मिनट हमें कायाकिंग की ट्रेनिंग दी गयी जो बहुत ही उपयोगी थी |

पास्कल ने कयाकिंग के विभिन्न पहलुओं को छुआ जो वास्तव में जानने लायक था और हम अब तैयार थे अपने पहले अभियान के लिए |

गोवा में कायाकिंग

धीरे धीरे कायाकिंग करते और पक्षियों को देखते हुए हम मैंग्रोवों के बीच से जा रहे थे और यह सब किसी सपने जैसा ही लग रहा था |

बीच बीच में सारे रास्तों, पक्षियों और पेड़ पौधों की जानकारी हमने पास्कल के माध्यम से मिलती जा रही थी |

एक बढ़िया बात जो इस टीम में देखने को मिली वह यह थी कि ये लोग भी हमेशा कुछ नया देखने और करने की चाहत रखते थे और हर एक पल को बखूबी जीते थे |

Goa Kayaking Trip Flora and fauna in Goa Backwater

 

मोरजिम, उसके शांत बैकवाटर और उसके बीच बसे हुए मैंग्रोवों की खोज करना हमारे लिए एक अविस्मरणीय अनुभव जैसा ही था ।

कुछ समुद्री पक्षियों को देखकर हम चप्पू चलाना छोड़ देते और शांत होकर चलते रहते जिससे वह उड़ न जाएँ |

 

Birds at Chapora River Birds at Chapora River

पास्कल ने हमें दिखाया कि मैंग्रोवों के जड़ों की मिट्टी कितनी चिकनी है जिससे इसका उपयोग त्वचा पर लेप करने के लिए होता है |

यह सही मायनो के एक मस्तीभरा ऑफ़-बीट अनुभव था जिसे यहाँ आने के बाद ही समझा जा सकता है |

करीब एक घंटे बाद हम यॉट पर वापस आये और ठंडी ड्रिंक्स के साथ स्नैक्स का आनंद लिया |

हमने यहाँ बहुत कुछ सीखने के अलावा नए और कभी न भूलने वाले दोस्त भी बना लिए थे |

अब वापस जाने का समय आ गया था, ये चार घंटे कैसे चार पलों में बीत गए इसका पता ही नहीं चला|

 

[crp]

 

कोंकण एक्सप्लोरर्स के साथ बोटिंग [10 ज़रूरी टिप्स]

गोवा बोटिंग

1. तौलिये और कुछ बदलने वाले कपड़े अपने साथ ले जाएँ | तैराकी वाले कपड़े रखना न भूलें |

2. यदि साथ में छोटा बच्चा है तो उसका खाने का सामान साथ रख सकते हैं |

3. हालांकि यॉट छोटा है पर इसमें टॉयलेट और कपड़े बदलने की सुविधा है |

4. यदि आप ग्रुप (10 -12) में हैं तो पूरी बोट को बुक करें, व्यक्तिगत पैकेज पर मत जाएँ |

5. कोंकण एक्सप्लोरर्स टूर को पूरी तरह से कस्टमाइज करते है सो इसका फायदा उठायें |

6. अगर आप के पास समय है तब हमेशा तीन या चार घंटे वाला पैकेज ही चुने | मेरे हिसाब से तो चार घंटों से ऊपर वाला भी कोई पैकेज होना चाहिए |

7. यदि आप तैरना नहीं जानते हैं तो घबराने की कोई ज़रुरत नहीं है | हम लोगो में से भी कोई नहीं जानता था |

8. साउथ गोवा से यह लगभग 80 -90 की दूरी पर है सो यदि आप साउथ गोवा में हैं तो बोर्डिंग समय से कम से कम दो घंटे पहले निकलें |

9. यहाँ जेटी का बहुत कमर्शियल उपयोग नहीं है सो आस पास कुछ नहीं मिलता है सिर्फ मुख्य सड़क के किनारे बनी कुछ दुकानों को छोड़कर | बेहतर होगा कि आप आने और जाने के लिए पहले से टैक्सी बुक कर के रखें |

10. दोपहर वाला पैकेज बुक करने पर सूर्यास्त देख सकते हैं जो एक अलग ही अनुभव होगा |

 

और अंत में ….

गोवा घूमना किसे पसंद नहीं होगा और उसमें भी यदि बोटिंग और कायाकिंग का तड़का लगा हो तब तो पूछना ही क्या |

गोवा में बोटिंग के बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं पर कोंकण एक्सप्लोरर्स इन सबमे से बेहतरीन है | 

यदि आप भी वाटर स्पोर्ट्स के शौकीन हैं तब देर किस बात की, अपने बैग पैक करिए और निकल पड़िए गोवा की ओर |

हमें कमेंट कर बताएं कि आप किस प्रकार के वाटर स्पोर्ट्स में रुचि रखते हैं और आप गोवा के बारे में और क्या जानकारी चाहते हैं?

यात्रा से जुड़े ऐसे ही जानकारी भरे पोस्ट को सबसे पहले पढ़ने के लिए यात्राग्राफ़ी को सब्सक्राइब करें |

इस उपयोगी पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें जिससे सभी लोग इसका लाभ ले सकें |

 

शेयर करें!

1 thought on “गोवा में बोटिंग और कायाकिंग का मज़ा कैसे लें [किराया + टिप्स]”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top