मोबाइल से ट्रैवल वीडियो शूटिंग कैसे करें | 12 प्रैक्टिकल टिप्स

अपनी यात्रा के दौरान एक बढ़िया वीडियो शूट करना तो मुश्किल काम नहीं है जब जेब में स्मार्टफोन हो |

क्या आप भी कुछ ऐसा ही सोचते हैं?




आप कहेंगे कि भई इसमें क्या है, जब हम कहीं यात्रा पर गए तो वीडियो शूटिंग करने के लिए बस रिकॉर्ड का बटन ही तो दबाना है और बाकी काम तो मोबाइल फोन कर ही लेगा |

लेकिन रिकॉर्ड बटन क्लिक करते ही कहीं वीडियो में सब्जेक्ट आउट ऑफ़ फोकस हो जाता है तो कहीं बार बार फोकस हंटिंग की समस्या आ जाती है |

कहीं रंग एकदम से धुले धुले लगते हैं तो कहीं बिलकुल अँधेरा हो जाता है और भी न जाने क्या क्या परेशानियां|

अब आप सोचेंगे कि अपने स्मार्टफोन कैमरा से एक बेहतर ट्रैवल वीडियो शूट क्या इतना कठिन है?

जी ! बिलकुल नहीं  |

इसके लिए ही आप इस स्थान पर आये हैं |

क्या आप जानना चाहेंगे कि वह क्या तरीके हैं जिनकी मदद से आप किसी साधारण से travel video को और भी बेहतर बना सकते है |

हम यहाँ बात करेंगे उन 12 प्रैक्टिकल टिप्स की, जिनका प्रयोग कर आप बेहतरीन यात्रा वीडियो शूट कर सकते हैं |

आगे बढ़ने से पहले आप हमारे पोल में भाग जरूर लें |

विषय-सूची छिपाएं
2 बेहतरीन यात्रा वीडियो शूट करने के लिए 12 प्रैक्टिकल टिप्स

शानदार यात्रा वीडियो शूट करने के लिए ज़रूरी मोबाइल गैजेट 

यात्रा वीडियो शूटिंग रिग
User:Matthias Süßen, Mobile journalism msu-2018-1924, CC BY-SA 4.0

आगे बढ़ने से पहले हम कुछ ज़रूरी मोबाइल एसेसरीज के बारे में जान लेते हैं जो एक बेहतर ट्रैवल वीडियो शूट करने में आपकी सहायता करेंगे |

वैसे देखा जाये तो एक बेहतरीन या प्रोफेशनल वीडियो शूट के लिए आप को एक लेटेस्ट मोबाइल कैमरा फोन के अलावा भी अनेकों उपकरणों जैसे लेंस, स्मार्टफोन रिग, माइक, गिम्बल इत्यादि की आवश्यकता पड़ेगी |

पर हम यहाँ कुछ शुरूआती उपकरणों की ही बात करेंगे जिसका प्रयोग सब लोग कर सकते हैं |

1 .  कैमरा फोन (एंड्राइड या iOS)

आप किसी भी प्रकार का स्मार्टफोन इस्तेमाल कर सकते हैं जिसमे कम से कम 12 मेगापिक्सेल का एक कैमरा हो |

2.  कैमरा एप्लीकेशन या ऐप्प्स 

यदि आप के मोबाइल कैमरे कैमरे में मैन्युअल मोड की सुविधा है तब तो ठीक है नहीं तो आप को  मैन्युअल कैमरा एप्प की आवश्यकता पड़ेगी | 

एंड्राइड के लिए फ्री एप्स 

एंड्राइड और iOS के लिए बेहतरीन पेड एप्प

3.  ट्राईपोड वाली सेल्फ़ी स्टिक 

रूकिये ! इसकी ज़रुरत कोई वीडियो सेल्फी लेने के लिए नहीं है बल्कि किसी शॉट को तनिक स्थिरता (stabilization) देने की है |

यदि आप कोई सस्ता सा गिम्बल खरीद सकते हैं तब तो बेहतरीन होगा पर कम से कम सेल्फ़ी स्टिक का प्रयोग ज़रूरी है | 

सेल्फी स्टिक
स्मार्टफोन के साथ मेरी सेल्फ़ी स्टिक

किसी भी शॉट को लेते समय हाथ हिल सकते हैं जिससे आपकी ट्रैवल वीडियो बिगड़ने की समस्या रहेगी |

स्टिक का प्रयोग करते समय इससे काफ़ी हद तक बचा जा सकता है | 

सेल्फ़ी स्टिक को पूरा खींच कर अपनी यात्रा वीडियो की शूटिंग करने पर ऐसा लगेगा कि आप ऊपर से शूट कर रहे हैं जिससे वीडियो में एक अलग ही प्रभाव आयेगा |

यदि आपने ट्राईपोड वाली स्टिक ली है तब तो पूछना ही क्या |

स्मार्टफोन को ट्राईपोड पर लगाकर आप खुद की वीडियो भी शूट सकते हैं |

4 .  वीडियो एडिटिंग सॉफ्टवेयर 

यात्रा वीडियो के लिए यह सबसे ज़रूरी टूल है जिसका उपयोग पोस्ट प्रोडक्शन में होता है |

यदि आप विंडोज पीसी पर एडिटिंग करना चाहते हैं तब शुरूआत में Windows Movie Maker जैसे फ्री सॉफ्टवेयर का प्रयोग करें |

हांलाकि पहले के जैसे अब यह विंडोज के साथ नहीं आता है पर इसे अलग से डाउनलोड कर सकते हैं| 

एडिटिंग की तनिक समझ रखने वालों के लिए Filmora और जानकारों के लिए Adobe Premiere Pro बेहतरीन सॉफ्टवेयर  हैं |

स्मार्टफोन में ही वीडियो एडिटिंग करने वालों के लिए Kinemaster एक बढ़िया एप्प है | 

बेहतरीन यात्रा वीडियो शूट करने के लिए 12 प्रैक्टिकल टिप्स

सभी ज़रूरी उपकरणों को इकट्ठा करने  के बाद अब बस यात्रा वीडियो शूट करना ही बाकी रह गया है |

तो फिर देर किस बात की, आइये शुरू करते हैं –

टिप # 1 : अपने कैमरा फोन को ठीक से समझें

आप कहेंगे कि इसमें क्या समझना है, अरे हमारे फ़ोन को कोई हमसे बेहतर जान सकता है क्या ? 

हम यहाँ बात कर रहे हैं स्मार्टफोन के कैमरा फीचर के बारे में |

अपने ट्रिप की वीडियो शूटिंग करते समय हम लोग बिना कोई सेटिंग देखे बस रिकॉर्ड का बटन दबा देते हैं |

लो जी ! हो गयी वीडियो रिकॉर्डिंग |

यह ध्यान रखें कि इस तरह से आप साधारण फुटेज ही ले पाएंगे पर यात्रा वीडियो को तनिक बेहतर बनने के लिए आपको थोड़ा प्रयास करना पड़ेगा | 

कैमरा के सभी फीचर जैसे शटर, अपर्चर, ISO, वाइट बैलेंस, फोकस इत्यादि जैसे मूलभूत शब्दों के अलावा फ्रेमिंग और कॉम्पोजीशन  को समझें और अभ्यास करें |

बेहतर कम्पोजीशन के लिए सबसे पहले हमें यह तयं करना होता है कि हमारे सब्जेक्ट के पीछे का हिस्सा साफ है या नहीं, यदि नहीं तो हमें अपना शूटिंग एंगल बदलना पड़ेगा |

हमें मोबाइल को सब्जेक्ट के ऊपर, नीचे या बगल में रख के देखना पड़ेगा कि कहाँ से कम्पोजीशन बेहतर हो रहा है |

बेहतर फ्रेमिंग के लिए रूल ऑफ़ थर्ड्स का प्रयोग करें |

अपने मोबाइल में ग्रिड लाइन का विकल्प चालू करें |

हम देखेंगे कि हमारी स्क्रीन पर 9 चोकौर से भाग आ जायेंगे जो 2 horizontal और 2 vertical रेखाओं के कटने से बने होंगे |

how to shoot video with phone

Rule of thirds के हिसाब से सब्जेक्ट को बीच में न रख कर चार intersection points पर रखना होता है | 

हर कैमरा फोन का एक अलग व्यक्तित्व है इसलिए पहले आप उसे समझे तब काम पर लगायें |

इस प्रकार से आप उसकी ताकत और कमजोरियों के बारे में अच्छे से जान पाएंगे |

टिप # 2 : अपने यात्रा की वीडियो को पोर्ट्रेट मोड में शूट न करें 

मोबाइल से यात्रा वीडियो शूटिंग

अक्सर लोगों को देखा है कि वीडियो शूटिंग करते समय अपना फ़ोन खड़ा ही रखते हैं और यही हमारी आदत बन जाती है |

किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपलोड करने के लिए ऐसे वीडियो तो ठीक हैं पर यदि उन्हें आप टीवी या कंप्यूटर पर देखेंगे तब वह पूरी स्क्रीन में नहीं दिखाई देंगे |

कुछ ऐसे ….

Shooting vertical mode

इसलिए जहाँ तक हो सके अपनी travel videos को लैंडस्केप या horizontal मोड में ही शूट करें | 

टिप # 3 : अपने ट्रैवल वीडियो की कहानी पर विशेष ध्यान दें 

यात्रा वीडियो कैसे शूट करें

यात्रा वीडियो शूट करते समय ये ध्यान रखें कि किसी स्थान विशेष से भी आवश्यक विषय है उससे जुड़ी हुई कहानी |

उदहारण के लिए सिर्फ ताजमहल को शूट करने से बेहतर है कि आप यह शूट करें कि उस स्थान पर आप कैसे पहुंचे, किससे मिले और वहां पर आपने क्या क्या किया |

ध्यान दें : यात्रा की वीडियो को और भी रोचक बनाने के लिए सफर के दौरान हुए कुछ मजेदार घटनाओं, खान-पान और परेशानियों को भी कहानी में जोड़ें 

समय समय पर आप मौसम का मिजाज़, भीड़ भरे बाज़ार और आसपास का वातावरण भी दिखा सकते हैं | 

सीधा गंतव्य स्थान पर शूट करने से बेहतर है कि  शुरुआत रेलवे स्टेशन /एअरपोर्ट से ही की जाये | 

इसी प्रकार से आप अपने यात्रा की वीडियो का अंत कोई  स्मृति चिन्ह खरीदते हुए, यात्रा की फोटो देखते हुए या फिर अपनी यात्रा का अनुभव बताते हुए कर सकते हैं | 

किसी स्थान पर जाने से पहले वहां की थोड़ी जानकारी इकट्ठी करें और हो सके तो पटकथा पहले से ही तैयार कर लें | 

बेतरतीब क्लिप शूट करने से बेहतर है आप कहानी पर ध्यान दें इससे आपकी यात्रा का वीडियो साधारण से और बेहतर बनेगा |

टिप # 4 : मैन्युअल मोड का प्रयोग कर अपने ट्रैवल वीडियो शूटिंग को निखारें

मैन्युअल मोड का प्रयोग आपके ट्रैवल वीडियो में बहुत सुधार ला सकता है | 

मोबाइल वीडियो शूट के दौरान बार बार एक्सपोज़र, फोकस और वाइट बैलेंस का बदलाव एक अकुशल वीडियोग्राफी की और संकेत करता है | 

यदि आप वीडियोग्राफी में नए हैं तब मैन्युअल मोड का प्रयोग तनिक जानकारी के बाद ही करें | 

पर यदि आपको शटर, अपर्चर, ISO और वाइट बैलेंस का तनिक भी ज्ञान है तब आप मैन्युअल मोड का ही प्रयोग करें | 

जैसा मैंने पहले बताया यदि आपके कैमरा फोन में मैन्युअल मोड नहीं है तो अलग से एप्लीकेशन डाला जा सकता है |

वीडियो कैमरा एप्लीकेशन का प्रयोग कैसे करें?

मैं मोबाइल वीडियो शूट करने के लिए Cinema FV-5 या Filmic Pro का उपयोग करता हूँ |

कई बार ऐसा देखा जाता है कि वीडियो में रंग सीन और प्रकाश के हिसाब से अलग अलग आते हैं जो देखने में बिलकुल भी अच्छे नहीं लगते |

इसके लिए आप पहले ही वातावरण के हिसाब से वाइट बैलेंस सेट करें और एक्सपोज़र को लॉक कर दें |

इससे प्रकाश बदलने की स्थिति में भी आपकी यात्रा वीडियो पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ेगा |

वीडियो का फ्रेम रेट और बिट रेट सावधानी से चुने और पूरे समय उसे एक जैसा ही रखें |

अधिकतर कैमरा फोन में 30 fps का फ्रेम रेट होता है पर आप इसे एप्प की मदद से घटा या बढ़ा भी सकते हैं | 

वीडियो फ्रेम रेट

ध्यान दें :  सामान्य शूटिंग के के लिए 24 या 30 fps और स्लो मोशन के लिए 60 या 120 fps पर शूट कर सकते हैं |

यदि आपके पास मेमोरी की कोई कमी नहीं है तब बिट रेट को अधिकतम सेट कर सकते हैं जिससे वीडियो बेहतर क्वालिटी की आयेगी |

वीडियो शूटिंग बिट रेट
Cinema FV-5, बिट रेट सेटिंग

फ्रेम रेट चुनने के बाद शटर स्पीड को उससे दोगुना रखें |

इसका मतलब यदि आपने 24 fps चुना है तब शटर स्पीड को 1 /50  सेकंड पर रखें |

प्रकाश के हिसाब से ISO का चुनाव करें और हो सके तो इसे 400 से कम ही रखें नहीं तो विडियो में ग्रेन या नॉइज़ की समस्या आएगी |

video shooting kaise kare
Cinema FV-5, ISO सेटिंग

फोकस को हमेशा ऑटोफोकस पर रखें और इसे लॉक कर लें |

फोकस लॉक करने के बाद चौकोर (नीचे देखें) सफेद से हरा हो जायेगा |

मोबाइल वीडियो शूटिंग
Cinema FV-5, ऑटोफोकस सेटिंग

टिप # 5 : अपने ट्रिप की वीडियो के शॉट्स की लम्बाई को सीमित रखें

यदि आपको केवल अपने परिवार के साथ बैठकर देखने वाली यात्रा वीडियो बनानी है तब तो ठीक है |

पर अगर आप अपनी यात्रा के वीडियो को सोशल मीडिया पर दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ साझा करना चाहते है तब आप को दो शॉट्स के बीच सीमित लम्बाई रखनी चाहिए | 

सीन के हिसाब से अपने वीडियो शूट की योजना बनायें और उसे 5 से 15 सेकंड की अलग अलग क्लिप्स में शूट करें |

मैं अपने वीडियो में 5 सेकंड की क्लिप्स लेना पसंद करता हूँ |

Travel video length

इस लिहाज़ से आपके पास बहुत सारी फुटेज तो हो जाएगी पर वो सभी एक जैसी नहीं रहेंगी |

आपके पास  हर सीन और एक्शन के हिसाब से अलग फुटेज होगी और अधिक काट छांट नहीं करनी पड़ेगी |

ऐसा करने से आप अपने टूर का एक दिलचस्प वीडियो बना पाएंगे |

टिप # 6 : धीरे धीरे पैन करें और अलग-अलग एंगल से शॉट लें

अपने पसंदीदा Travel Destination पर पहुँचने के बाद अक्सर लोग क्या करते हैं ? 

बस मोबाइल कैमरा निकाला और दायें, बाएं, ऊपर, नीचे, यहाँ, वहां ….सब कुछ शूट करने लगते हैं जैसे सब कुछ वह अपने कैमरे में कैद कर लेना चाहते हों |

जब आप घर पहुँच कर उन वीडियो क्लिप्स को देखेंगे तो पाएंगे कि उनमें से 90 % किसी काम की नहीं हैं |

ऐसा इसलिए क्योंकि कहीं आउट ऑफ़ फोकस है तो कहीं सब्जेक्ट फ्रेम से कट गया है इत्यादि | 

आप ऐसा बिलकुल भी न करें !!

ध्यान दें – कोई भी शॉट लेते  समय धीरे धीरे पैन (कैमरा इधर उधर घुमाना) करें क्योंकि बहुत तेज़ पैन करने से विडियो में मोशन ब्लर या धुंधलापन आ जायेगा और वीडियो खराब हो  जाएगी |

अपने सभी शॉट आँख के लेवल से ही न लें उनमें थोड़ी वैरायटी लायें |

अलग-अलग कोण पर शूट कर आप दर्शकों में अलग -अलग भाव पैदा कर सकते हैं जिससे वह देर तक बंधे रहेंगे |

अधिक जानकारी  के लिए आप हमारा कैमरा एंगल वाला पोस्ट देख सकते हैं | 

अब जब भी आप ऐसे समझ-बूझ से शूट करेंगे तब आप पाएंगे कि साधारण यात्रा वीडियो भी बेहतर हो गयी है | 

टिप # 7 :  यात्रा वीडियो शूटिंग के दौरान डिजिटल ज़ूम का प्रयोग न करें

साधारण मोबाइल कैमरे में ऑप्टिकल ज़ूम न होकर सिर्फ डिजिटल ज़ूम ही रहता है (Apple iphone-12, Samsung S20/21, Huawei P30/40 Pro जैसे कुछ मोबाइल को छोड़कर) |

इसलिए ज़ूम करने से रेसोलुशन कम हो जाता है और आपके यात्रा वीडियो की क्वालिटी खराब हो जाती है |

यदि आपके मोबाइल कैमरे में ऑप्टिकल ज़ूम है तब भी इसका प्रयोग कम से कम करें | 

ऐसा इसलिए क्योंकि स्मार्टफोन में ज़ूम बहुत स्मूथ नहीं होता है और वीडियो देखते वक्त ऐसा लगेगा कि सीन तनिक अटक अटक कर ज़ूम हो रहा है |

जहाँ तक हो सके, अपने ट्रैवल वीडियो की शूटिंग के दौरान ज़ूम का प्रयोग कम ही करें और ज़रुरत पड़ने पर खुद ही आगे -पीछे हो लें |

टिप # 8 :  बेहतरीन ट्रैवल वीडियो शूट करने के लिए अपने हाथों को स्थिर रखें

मोबाइल से यात्रा वीडियो शूटिंग

क्या आप और आपके दर्शक एक हिलती -डुलती यात्रा वीडियो देखना पसंद करेंगे ? 

आप का जवाब होगा – नहीं !

बात भी सही है, लोग स्थिर वीडियो देखना ही पसंद करते हैं |

यदि आप नहीं चाहते कि आपका वीडियो फ़ुटेज तनिक धुंधला या फिर अस्थिर हो जाये तब आपको वीडियो शूटिंग के दौरान एक स्मार्टफोन रिग, गिम्बल या कम से कम एक सेल्फी स्टिक का प्रयोग करना होगा ।

अगर आपके पास सेल्फी स्टिक भी नहीं है और आप हैंडहेल्ड वीडियो शूट करना चाहते हैं, तो पहले यह जांच लें कि आपके कैमरे में ऑप्टिकल या इलेक्ट्रॉनिक इमेज स्टेबिलाइजेशन फीचर है या नहीं।

हो सकता है आपके कैमरा फोन में यह सुविधा हो तब आप उसे स्विच ऑन करना न भूलें | 

इमेज स्टेबिलाइजेशन के प्रयोग से वीडियो तनिक स्मूथ हो जाता है | 

यदि आपके कैमरा फोन में स्टेबिलाइजेशन फीचर भी नहीं है तब आप इन युक्तियों का प्रयोग करें

  • फोन को अपने शरीर के करीब ही रखें और शूटिंग के दौरान मद्धम गति से सांस लें ।
  • कभी भी एक हाथ से वीडियो रिकॉर्ड न करें |
  • अपने स्मार्टफ़ोन को पकड़ने के लिए दोनों हाथों का उपयोग करें और अपनी कोहनी को अपने शरीर के जितना संभव हो उतना करीब रखें |
  • पैन करते समय अपने कमर का प्रयोग करें |
  • वीडियो रिकॉर्डिंग के समय सेटिंग्स में बदलाव या छेड़छाड़ न करें |

टिप # 9 :  अपने यात्रा वीडियो में आस पास की ध्वनियों को भी रिकॉर्ड करें

क्या आप अपने टूर की वीडियो में केवल बैकग्राउंड म्यूजिक का ही प्रयोग करते हैं ?

क्या आप जानते हैं कि वीडियो में वास्तविकता लाने और रुचि बढाने के लिए आस पास की ध्वनियों का भी प्रयोग किया जा सकता है ?

लोगो की बातचीत, झरनों, नदियों, हवा, बारिश, पशु पक्षियों इत्यादि की आवाज़ डालने से विडियो की गुणवत्ता एकदम से निखर जाएगी |

आवाज़ रिकॉर्ड करने के लिए  यदि आपके पास माइक्रोफ़ोन नहीं है तब  आप अपने इयरफ़ोन का भी प्रयोग कर सकते हैं | 

असली आवाजों के अलावा साउंड इफेक्ट्स के लिए आप गूगल फ्री म्यूजिक लाइब्रेरी  या bensound  का प्रयोग कर सकते हैं |

टिप # 10 : अपने ट्रैवल वीडियो में स्लो मोशन और टाइम लैप्स का प्रयोग करें

Time lapse | Time Lapse Video | Samsung Galaxy S7 Edge Camera

आजके कैमरा फोन बस साधारण वीडियो बनाने तक ही सीमित नहीं हैं बल्कि ये बहुत आगे निकल चुके हैं |

अपने यात्रा की वीडियो को दूसरों से अलग रखने के लिए आप टाइम लैप्स और स्लो मोशन का प्रयोग करें जो आपके वीडियो में एक नयी जान डाल देगा |

यह ज़रूर ध्यान दें की इस प्रकार के शॉट्स को कब और कैसे लेना है |

यदि आपका स्मार्टफोन स्लो मोशन सपोर्ट करता है तब कैमरे की सेटिंग में जाकर आप 1080P रिज़ॉल्यूशन पर 120 फ्रेम-प्रति सेकंड और 720P  के  रिज़ॉल्यूशन पर 240 फ्रेम-प्रति-सेकंड का चयन कर सकते हैं।

जब आप इन फ्रेम को 24 /30 फ्रेम प्रति सेकंड पर चलाएंगे तब एक बेहतरीन स्लो मोशन मिलेगा |

सबके कैमरा फ़ोन में टाइम लैप्स का फीचर होता है जिसका प्रयोग करें |

सबसे पहले फ़ोन को ट्राईपोड पर रखें, फोकस और एक्सपोज़र लॉक करें और फिर रिकॉर्ड बटन दबा दें |

आप मेरा यह टाइम लैप्स वीडियो देखें जो मैंने अपने मोबाइल सैमसंग गैलेक्सी S7 एज से लिया था |

टिप # 11 : यात्रा वीडियो को सबसे अधिक रेसोलुशन में ही शूट करें

video resolution

यदि आपका कैमरा फोन 4K वीडियो सपोर्ट नहीं करता तब आप मैन्युअल एप्प की मदद से कम से कम फुल HD और 60 fps फ्रेम रेट पर शूट करें| 

जैसा मैंने पहले बताया, रेसोलुशन के साथ साथ बिट रेट को भी अधिकतम ही रखें जिससे वीडियो की क्वालिटी बढ़िया रहेगी |

यदि आपके पास  मेमोरी की कोई समस्या नहीं है तब अपने ट्रिप वीडियो को  हमेशा high resolution में ही शूट करें |

ऐसा करने से आपको एडिटिंग के समय मदद मिलेगी |

ध्यान रहे कि 4K वीडियो हमेशा full HD से बेहतर होता है |

टिप # 12 :  अपने ट्रिप की वीडियो को एडिट करें और उपयुक्त लम्बाई रखें

एडिटिंग करने से वीडियो की क्वालिटी में सुधार आ जाता है क्योंकि आप गलतियों को छांट सकते हैं |

हांलाकि यह केवल एक दिन का काम नहीं है पर समय के साथ साथ आप एडिटिंग करने में माहिर हो जायेंगे |

वीडियो एडिटिंग से पहले यह ध्यान रखें  कि अपनी यात्रा वीडियो के माध्यम से आपको एक कहानी बयां करनी है |

एडिटिंग करते समय  केवल उन शॉट्स को शामिल करें जो आपको उस कहानी को बताने में मदद करे  |

हांलाकि यह तनिक मुश्किल होता है क्योंकि हम लोग उन सभी शॉट्स को दिखाना पसंद करते हैं जिसे हमने खुद शूट किया होता है |

पर जहाँ तक हो सके अपने वीडियो में विविधता बनायें रखें |

Video editing सॉफ्टवेयर  में कलर करेक्शन और ग्रेडिंग का भी आप्शन होता है जिसका प्रयोग आप वीडियो को और भी बेहतर बनाने में कर सकते हैं |

दिलचस्प वीडियो के लिए आप बीच बीच में ट्रांजीशन का प्रयोग करें पर यह ध्यान रखें कि इनका अधिक प्रयोग भी न हो |

अपने परिवार के साथ देखने के लिए 10-15 मिनट (यह आप पर निर्भर करता है) और सोशल मीडिया के लिए 3-5 मिनट लम्बी ट्रेवल वीडियो बनाना एक बेहतर विकल्प  हो सकता है |

और अंत में …

यात्रा के दौरान वीडियो शूटिंग करना बहुत ही मज़ेदार और अपनी यात्रा की कीमती यादों को सहेज कर रखने का एक शानदार तरीका है।

आप यह नहीं चाहेंगे कि कुछ तरीकों का ज्ञान न होने से आपकी यात्रा वीडियो बहुत ही साधारण हो जाये | 

ऊपर बताये गए टिप्स का प्रयोग कर और उन्हें निरंतर अभ्यास कर आप भी अपने टूर का एक बेहतरीन वीडियो बना सकते हैं |

उम्मीद करता हूँ आपको यह ख़ास बात चीत ज़रूर पसंद आई होगी और इससे बहुत कुछ सीखने को भी मिला होगा |

हमें कमेंट कर बताएं कि आप अपनी यात्रा वीडियो बनाने के लिए कौन से स्मार्टफोन का प्रयोग करते हैं?

आप हमारे बेसिक फोटोग्राफी सेशन से भी जुड़ कर भी ढेरों जानकारियाँ मुफ्त में पा सकते हैं |

इस प्रकार की नई जानकारियाँ पाने के लिए यात्राग्राफ़ी को सब्सक्राइब करें !

इन फ्री टिप्स को अधिक से अधिक शेयर करें जिससे सभी लोग इसका लाभ ले सकें |

 

शेयर करें!

5 thoughts on “मोबाइल से ट्रैवल वीडियो शूटिंग कैसे करें | 12 प्रैक्टिकल टिप्स”

  1. When someone writes an paragraph he/she retains the image of a user in his/her mind that how a
    user can be aware of it. So that’s why this piece of writing is perfect.
    Thanks!

Leave a Comment

Your email address will not be published.

आप इस पेज की सामग्री को कॉपी नहीं कर सकते!

Scroll to Top